Majboor mohabbat–Sad Hindi Sms

Majboor mohabbat jata na sake,
Zakhm khate rahe kisi ko bata na sake..
Chahato ki had tak chaaha use.
Sirf apna Dil nikaal kar use dikha na sake.
``
मजबूर मोहब्बत जाता ना सके,
ज़ख़्म खाते रहे किसी को बता ना सके..
चाहतो की हद तक चाहा उसे.
सिर्फ़ अपना दिल निकाल कर उसे दिखा ना सके.
``
Raaste mein chup chaap bikhar jata
agar ek roz bhi apni tanhaai se dar jata
kal saamne manzil thi aur peeche uski aawaz
rukta to safar jata chalta to bichar jata
``
रास्ते में चुप छाप बिखर जाता
अगर एक रोज़ भी अपनी तन्हाई से डर जाता
कल सामने मंज़िल थी और पीछे उसकी आवाज़
रुकता तो सफ़र जाता चलता तो बिछड़ जाता